Happy World Hindi Day

World Hindi Day Shayari 2021 For Those Who Love Hindi

World Hindi Day is celebrated every year on 10 January. The objective of World Hindi Day is to create an atmosphere for the promotion of Hindi worldwide and to introduce Hindi as an international language. The Embassy of India abroad celebrates this day exclusively. On this day, unique programs for Hindi on various subjects are organized in all government offices. Before the start of celebrating World Hindi Day

विश्व हिंदी दिवस हर साल 10 जनवरी को मनाया जाता है। विश्व हिंदी दिवस का उद्देश्य विश्‍व भर में हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए वातावरण निर्मित‍ करना और हिंदी को अंतरराष्‍ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है। विदेशों में भारत के दूतावास इस दिन को विशेष रूप से मनाते हैं. इस दिन सभी सरकारी कार्यालयों में विभिन्न विषयों पर हिंदी के लिए अनूठे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। विश्व हिंदी दिवस की मनाने की शुरुआत पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्‍टर मनमोहन सिंह ने 10 जनवरी 2006 को की थी. तभी से हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस मनाया जाता है। 

जिस तरह महबूब के माथे पर मुझे बिंदी चाहिए,
मुझे हर जन्म में देश भारत और भाषा हिंदी चाहिए |

world hindi day 2019

Jis tarah mehboob ke maathe par mujhe bindi chahiye,
Mujhe har janam mein desh bharat aur bhasha hindi chahiye.

मुझे दुगनी मोहब्बत से सुनो उर्दू ज़बां वालों,
मैं हिन्दी माँ का बेटा हूँ, मैं घर मौसी के आया हूँ |
– डॉ कुमार विश्वास

world hindi day theme 2021

Mujhe dugni mohabbat se suno urdu jubaan vaalo,
Mai hindi maa ka beta hoon mai ghar mausi ke ayaa hoon.

Rahat Indori Shayari In Hindi:Rahat Indori Shayari On Life

Rahat Indori Shayari In Hindi: Most Popular And Heart Touching Shayari

गर्व हमे है हिन्दी पर,
शान हमारी हिन्दी है,
कहते – सुनते हिन्दी है,
पहचान हमारी हिन्दी है |

world hindi day in english

Garv hamein hai hindi par,
Shaan hamari hindi hai,
Kehte – sunte hindi hai,
Pehchan hamari hindi hai.

साफ़ – सुधरी ज़बान हिन्दी है,
खुश – बयानी की जान हिन्दी है |

Saaf-sudhri jaban hindi hai,
khush- bayani ki jaan hindi hai.

मैं बहिष्कारक अंग्रेजी का सुना है,
कलयुग में बच्चे, माँ का मोल भूल गए |
ये जाहिल है या ग़द्दार,
कहना हिन्दी को था,
और
माँ अंग्रेजी को बोल रहे |

Maine bahishkar angreji ka suna hai,
kalyug mein bachhe Maa ka mol bhul gaye hai.
Ye jahil hai ya gaddar,
kehna hindi ko tha,
Aur
Maa angreji ko bol rahe.

world hindi day wikipedia

मेरी भाषा में अपनापन है, सहजता है, सम्मान है,
मैं हिन्दी का उपासक हूँ इससे मेरी पहचान है,
मात्राओं से अधिक जंहा भावनाएँ प्रधान है,
गर्व है हिन्दीवादी हूँ मेरी हिन्दी महान है |

Meri Bhasha mein apnapan hai, sahajta hai, samman hai,
Mai hindi ka upasak hoon isse meri pehchan hai,
Matrao se adhik jaha bhavnae pradhan hai,
Garv hai hindiwadi hoon meri hindi mahan hai.

rashtriya hindi diwas

बोले तो जुबान से टपकती शहद सी तुम,
सुनो तो फ़ूलों से आती महक सी तुम,
लिखे तो दरिया से उभरती लहर सी तुम,
देखो हिन्दी कितनी सरल हो तुम |

Bole to juban se tapakti shahad si tum,
Suno to fulo se aati mahak si tum,
Likhein to dariya se ubharti lahar si tum,
Dekho hindi kitni saral ho tum.

मुझे हिन्दी बोलना और लिखना पसंद है,
सुनो कहीं तुम मुझे
अनपढ़ तो नहीं समझोगे ना?

Mujhe hindi bolna aur likhna pasand hai,
suno kahi tum mujhe,
anpadh toh nhi samjhoge na?

हिन्दी भाषा वह भाषा है,
जो अ से अनपढ़ से शुरू होती है,
और ज्ञ से ज्ञानी बना कर छोड़ती है |

Hindi bhasha vah bhasha hai,
Jo अ se anpadh se shuru hoti hai,
Aur ज्ञ gyaani bna kar chodti hai.

आंखों में काजल,
और वो लाल बिंदी,
कुछ इस तरह सुसज्जित है मेरी हिन्दी |

Aankhon mein kajal,
Aur wo lal bindi,
Kuch is tarah susojit hai meri hindi.

शहद से धुले शब्दों का भंडार है हिन्दी,
तमाम लोकभाषाओ का आधर है हिन्दी,
संस्कृत से बंधी नानी का दुलार है हिन्दी,
कोमलता, करुणा, कृतज्ञता का सार है हिन्दी,
नभ से धारा तक का विस्तार है हिन्दी,
हिन्दुस्तानियों के हृदय में बसी माँ का प्यार है हिन्दी |

Shahad se dhule shabdo ka bhandar hai hindi, tamam lokbhashao ka adhar hai hindi,
Sanskrit se bndhi nani ka dular hai hindi,
Komalta, karuna, kritakgyata, ka saar hai hindi, Nabh se dhara tak ka vistar hai hindi,
Hindustaniyo ke hridya mein basi maa ka pyaar hai hindi.



तुझसे मेरा गौरव तुझसे ही अभिमान,
तुझसे ही हर भारतीय की ऊंची होती शान,
तुझसे ही मेरा अस्तित्व तुझसे ही पहचान,
ऐ राष्ट्र बोली हिन्दी तुझसे गौरवान्वित हिन्दोस्तान |

Tujhse mera gaurav tujhse hi abhimaan,
Tujhse hi har bhartiya ki unchi hoti shaan,
Tujhse hi mera astitva tujhse hi pehchaan,
Aye rastra boli hindi tujhse gaurvantit hindustaan.

कोई कहता है हिन्दी अपनी है और उर्दू पराई,
मगर इमान की हिन्दी उसे अब तक ना आयी |

Koi kehta hai hindi apni hai aur urdu parayi,
magar imaan ki hindi use ab tak na aayi.

अंग्रेजी एक सड़क सी बहुत दूर ले जाती है,
हिन्दी तो घर है अपना,
घूम फिरकर जिंदगी जहां लोटना चाहती है |

Angrezi ek sadak si hai bahut dur le jati hai,
Hindi toh ghar hai apna,
Ghum firkar zindagi jaha lutana chahti hai.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *